विश्व कप के सबसे बड़े विवाद

विश्व कप के सबसे बड़े विवाद

दोस्तों, क्रिकेट का महासंग्राम यानी की वर्ल्ड कप जब शुरू होता है तो हर व्यक्ति पर वर्ल्ड कप का रंग चढ़ जाता है। ऐसे में पिछले वर्ल्ड कप को याद करना तो बिल्कुल बनता है। तो आज हम आपको बताने वाले हैं वर्ल्ड कप के इतिहास मे हुई कुछ ऐसी विवादास्पद घटनाओं के बारे में जिन्हें लोग आज भी भूल नहीं सके हैं। तो चलिए दोस्तों सुरु करते हैं क्रिकेट विश्व कप के टॉप विवादों की चर्चाएं…

 

पाकिस्तानी कोच की रहस्मयी मौत,

बॉब वूल्मर
बॉब वूल्मर

यह घटना है विश्व कप 2007 की, जब पाकिस्तान का प्रदर्शन बेहद खराब रहा था और सभी खिलाड़ी निराश थे लेकिन अभी उनकी परेशानियां खत्म नहीं हुई थी। पाकिस्तान के विश्व कप से बाहर होने के अगले दिन ही कोच बॉब वूल्मर कि अचानक बड़े ही रहस्मयी अंदाज़ में मौत हो गई और उनकी लाश उनके कमरे में संदिग्ध हालात में मिली। क्रिकेट के महासंग्राम के बीच पूछताछ के सिलसिले शुरू हो गए। कई लोगों पर सवाल उठने लगे जिनमें कई पाकिस्तानी खिलाड़ी भी थे लेकिन अंत में कोच वूल्मर की मौत एक पहेली बन कर रह गई और उनकी मौत को प्राकृतिक मान लिया गया लेकिन आज भी उनकी मौत पर उठने वाले सवाल खत्म नहीं हुए हैं और यह मामला समय-समय पर उठता रहता है।

 

विवादास्पद रेन रुल,

1993 का विश्व कप तो आपको याद ही होगा। यह साउथ अफ्रीका की टीम का पहला विश्व कप था। अपने पहले ही विश्व कप में साउथ अफ्रीका ने शानदार प्रदर्शन किया और सेमी फाइनल में पहुंच गया। सेमीफाइनल में भी साउथ अफ्रीका ने इंग्लैंड को ज़बरदस्त टक्कर दी। बारिश से प्रभावित मैच में साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 45 ओवर में 253 रनों की जरूरत थी। साउथ अफ्रीका जीत के करीब थे और उन्हें 13 गेंदों पर सिर्फ 22 रनों की जरूरत थी। जीत साफ दिख रहे थे लेकिन बारिश को यह मंज़ूर नहीं था। मैच को एक बार फिर से रोकना पड़ा और जब खेल शुरू हुआ तो साउथ अफ्रीका की उम्मीदों को करारा झटका लगा।   बारिश के नियम के अनुसार और साउथ अफ्रीका को सिर्फ 1 बॉल पर 22 रन चाहिए थे जो नामुमकिन था। साउथ अफ्रीका आखिरी बॉल पर सिर्फ 1 रन ही बना सकी और उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा। टीम के सभी खिलाड़ियों के चेहरे पर निराशा और गुस्सा साफ दिख रहा था। इसके बाद बारिश के इस विवादास्पद नियम की बहुत आलोचना भी हो गई।

 

सने वार्न और ड्रग टेस्ट,

सने वार्न
सने वार्न

साल था 2003 और 1999 की विश्व कप चैंपियन ऑस्ट्रेलिया एक बार फिर से अपनी बादशाहत बरकरार करने के लिए उतरी थी।  लेकिन ऑस्ट्रेलिया की टीम में शामिल दुनियां के सबसे महान लेग स्पिनर शेन वार्न ने कुछ ऐसा कर दिया कि आस्ट्रेलिया की जीत की उम्मीद मंझधार में अटक गई। दरअसल वार्न मोदुरेटिक नाम के एक प्रतिबंधित पदार्थ लेने के दोषी पाए गए थे और इस कारण उन्हें टीम को बीच में ही छोड़कर देश वापस लौटना पड़ा। शेन वार्न को इसके बाद 1 साल का प्रतिबंध भी झेलना पड़ा था। अब ऑस्ट्रेलिया के साथ क्या हुआ यह तो आप सब जानते ही हैं। ऑस्ट्रेलिया की टीम एक बार फिर एकजुट हुई और वार्न की अनुपस्थिति में भी विश्व कप चैंपियन बन गई।

 

दोनों ही कैप्टंस ने टॉस जीता,

धोनी और संगाकारा
धोनी और संगाकारा

भारत और श्रीलंका के बीच 2011 विश्व कप कौन भूल सकता है। भारत की जीत और वर्ल्ड चैंपियन बनने का जश्न हर व्यक्ति ने मनाया था। लेकिन इसी मैच में टॉस के दौरान एक  ऐसी घटना हुई जो थोड़ी अजीब थी। सिक्का भारत के कैप्टन धोनी के हाथ में था और श्रीलंका के कैप्टन कुमार संगकारा ने हेड मांगा लेकिन मैच रेफ़री जेफ क्रोव को शोर के बीच संगकारा की आवाज़ सुनाई नहीं दी। वहीं धोनी सिक्के के उस हिस्से को टेल समझ रहे थे जो असली में हेड था। धोनी ने सोचा कि वो टॉस जीत गए और उन्होंने रवि शास्त्री से कह दिया कि भारत पहले बल्लेबाजी करेगा। इतनी सारी कन्फ्यूजन होने के कारण टॉर्च को एक बार फिर से किया गया और इस बार श्रीलंका के कैप्टन कुमार संगकारा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया।

 

अंधेरे में हुआ मैच,

किंग्स्टन ओवल स्टेडियम
किंग्स्टन ओवल स्टेडियम

ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच 2007 विश्व कप पर कब्ज़ा जमाने की जंग हो रही थी।  फाइनल मैच वेस्टइंडीज के किंग्सटन ओवल मैदान में खेला जा रहा था और मैच बारिश से प्रभावित था। दिलचस्प बात तो यह थी कि फाइनल के लिए चुने गए मैदान में फ्लडलाइट तक नहीं थी, जिसके कारण ग्राउंड पर अंधेरा छा गया। मैच के आखिरी 3 ओवर बचे हुए थे और ऑस्ट्रेलिया मैच में काफी आगे निकल चुकी थी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी जश्न मना रहे थे क्योंकि अंधेरे में मैच शुरू होने की कोई संभावना नहीं थी। लेकिन मैच के अंपायर स्टीव बकनर, अलीम दार, और रूडी कूरस्टें ने यह फैसला लिया कि मैच को अंधेरे में ही पूरा किया जाएगा। यहां शायद अंपायर ये भूल चुके थे कि मैच के परिणाम घोषित करने के लिए जरूरी 20 ओवर तो पहले ही हो चुके थे। और श्रीलंका को बल्लेबाजी करने की कोई जरूरत नहीं थी क्योंकि वह हार चुके थे। लेकिन अंपायर ने फिर भी मैच को पूरा करने पर जोर दिया जो काफी विवादास्पद था।

 

बम ब्लास्ट और श्रीलंका की जीत,

वर्ल्ड कप 1996 को भारत, पाकिस्तान, और श्रीलंका मिलकर मेजबानी कर रहे थे। ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के श्रीलंका के साथ होने वाले मैच श्रीलंका में ही होने वाले थे। लेकिन कोलंबो में हुए बम धमाकों के कारण ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज दोनों ने हीं श्रीलंका जाने से इनकार कर दिया। नतीजा यह हुआ कि श्रीलंका बिना मैच खेले ही क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई। उन्होंने सेमीफाइनल में भारत को हराया और फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर वर्ल्ड चैंपियन बन गई। इसी विश्व कप में भारत और श्रीलंका के बीच हुए मैच पर भी काफी विवाद हुआ था।

 

साउथ अफ्रीका के कैप्टन और ईयर-पीस,

हाशिए क्रोंजे
हाशिए क्रोंजे

वर्ल्ड कप 1999 में साउथ अफ्रीका अपने पहले मैच में भारत से भिड़ने वाली थी। भारत की ओर से ओपनर सौरभ गांगुली क्रीज पर उतर चुके थे और बैटिंग के लिए तैयार थे। तभी उन्होंने साउथ अफ्रीका के कैप्टन हाशिए क्रोंजे के कान में कुछ देखा। दरअसल क्रोंजे एक  ईयर-पीस पहने हुए थे जिससे वह साउथ अफ्रीका के कोच बॉब वूल्मर से बात कर रहे थे। गांगुली ने तुरंत इसकी शिकायत अंपायर से की।   और हाशिए क्रोंजे को वो ईयर-पीस उतारना पड़ा। हालांकि उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई क्योंकि यह खेल के नियमों के खिलाफ नहीं है। लेकिन खेल भावना के खिलाफ ज़रूर है।

 

 

 

सुनील गावस्कर की टेस्ट इनिंग,

बात है क्रिकेट के पहले विश्व कप की और वह भी पहले मैच की। भारत के सामने इंग्लैंड की चुनौती थी। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 60 ओवर में 335 रन का विशाल टारगेट दिया। लेकिन भारतीय बल्लेबाज़ों ने इस लक्ष्य को चेज करने की कोशिश भी नहीं की। समें सुनील गावस्कर की 174 बॉल पर सिर्फ 36 रन बनाने वाली पारी सबसे विवादास्पद थी। हालांकि उस समय वनडे क्रिकेट अपने शुरुआती दौर में था और विश्व कप से पहले सिर्फ 18 वनडे इंटरनेशनल खेले गए थे।

 

तो दोस्तों यह थी विश्व कप के इतिहास में हुई कुछ बेहद ही विवादास्पद घटनाओं का जिक्र। आपको क्या लगता है इस बार के विश्व कप में कौन सी टीम फाइनल में जाएगी अपने जवाब कमेंट में ज़रूर बताएं।

 

आप हमारे इस पोस्ट को नीचे दिए गए वीडियो में भी देख सकते हैं׀ इस वीडियो के अनुभव भी हमसे साझा करें और अन्य लोगों से यह वीडियो जरूर शेयर करें׀

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top