राजस्थान बनाम दुनियां

Rajasthan vs World

आइये दोस्तों जानते हैं, की क्या होगा अगर राजस्थान एक देश होता। तो चलिए शुरू करते हैं राजस्थान बनाम दुनियां…

 

आइए सबसे पहले बात करते हैं अपने आन बान और शान से मशहूर राजस्थान के क्षेत्रफल की। राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 3,42,240 वर्ग किलोमीटर है। और यह भारत का सबसे बड़ा राज्य है। अगर राजस्थान एक अलग देश होता तो यह दुनियां का 63वां सबसे बड़ा देश होता। और मलेशिया, ओमान, यूनाइटेड किंगडम, इटली, न्यूजीलैंड, फिलीपींस, वियतनाम, बांग्लादेश, नेपाल, और नॉर्थ कोरिया से भी बड़ा देश होता।

  राजस्थान दुनियां
क्षेत्रफल 3,42,240 वर्ग किलोमीटर 14,89,40,000 वर्ग किलोमीटर
दुनियां में स्थान 63वां

 

जनसंख्यां यानी की पॉपुलेशन की बात करें तो, राजस्थान की जनसंख्यां 2018 तक 7.5 करोड़ थी। और इस हिंसाब से यह भारत का सातवां सबसे बड़ा राज्य है। जनसंख्यां की दृष्टि से यह दुनियां का 20वां सबसे बड़ा देश होता। इस तरह इस की जनसंख्यां थाईलैंड, यूनाइटेड किंग्डम, साउथ कोरिया, स्पेन, कनाडा, अफगानिस्तान, सऊदी अरब, इटली, और फ्रांस जैसे देशों से भी ज्यादा होता।

  राजस्थान दुनियां
जनसंख्यां 7.5 करोड़ (2018 तक) 7.7 अरब
दुनियां में स्थान 20वां

 

दोस्तों, अगर बात करें नॉमिनल जीडीपी की तो राजस्थान की नॉमिनल जीडीपी 120 अरब डॉलर है। यानी कि 8.4 लाख करोड़ भारतीय रुपए, जो कि दुनियां में 57 वें नंबर पर होती। और जीडीपी के मामले में यूक्रेन, श्रीलंका, म्यानमार, केन्या, नेपाल, ओमान, सीरिया, लेबनोल, और वेनेजुएला जैसे कई देशों से भी ज्यादा होती।

  राजस्थान दुनियां
नॉमिनल जीडीपी 8.4 लाख करोड़ भारतीय रुपए 6870.3 लाख करोड़ भारतीय रुपए
दुनियां में स्थान 57वां

 

राजस्थान की जीडीपी ग्रोथ रेट 24.71% है। और अगर कभी राजस्थान एक अलग देश होता तो इसकी जीडीपी ग्रोथ रेट दुनियां में सबसे ज्यादा होती है। जी हां दोस्तों दुनियां की सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था, और यह तो राजस्थान के लिए बड़े हींं शान की बात होती। बता दें कि सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था की लिस्ट में दुनियां के कई दिग्गज देश जैसे कि अमेरिका, चीन, रूस, फ्रांस भी इस मामले में राजस्थान से काफी पीछे होते।

  राजस्थान दुनियां
जीडीपी ग्रोथ रेट 24.71% 3%
दुनियां में स्थान पहला

 

ह्यूमन डेवलपमेंट इंडेक्स (HDI) किसी भी देश के लोगों के विकास को नापने का एक इंटेक्स होता है। जैसे लाइफ एक्सपेक्टेंसी यानी जीवन प्रत्याशा, जीडीपी पर कैपिटा, और एजुकेशन लेवल। राजस्थान का ह्यूमन डेवलपमेंट इंडेक्स 0.621 है। और अगर यह एक देश होता तो दुनियां में 133वें स्थान पर आता। और इस मामले में भूटान, बांग्लादेश, पाकिस्तान, म्यांमार, केन्या, सीरिया, और नाइजीरिया जैसे देशों से आगे होता।

  राजस्थान दुनियां
ह्यूमन डेवलपमेंट इंडेक्स 0.621
दुनियां में स्थान 133वां

 

दोस्तों, अब बात करते हैं लिटरेसी रेट यानी कि पढ़े-लिखे लोगों की। राजस्थान का लिटरेसी रेट 66.1% है। और यह भारत की औसत लिटरेसी रेट से बहुत कम है। अगर राजस्थान एक देश होता तो यह दुनियां में 163वें नंबर पर होता। इसकी लिटरेसी रेट बांग्लादेश, पाकिस्तान, नेपाल, भूटान, नाइजीरिया, और अफगानिस्तान जैसे देशों से तो ज्यादा हींं होती।

  राजस्थान दुनियां
लिटरेसी रेट 66.1% 86.3%
दुनियां में स्थान 163वां

 

geographical position of rajsthan
राजस्थान की भौगोलिक स्थिति

भौगोलिक स्थिति की बात करें तो, राजस्थान भारत के उत्तर-पश्चिम में स्थित है। इसके उत्तर में पंजाब, उत्तर-पूर्व में हरियाणा, और उत्तर प्रदेश दक्षिण-पूर्व में मध्य प्रदेश दक्षिण-पश्चिम में गुजरात और उत्तर-पश्चिम में पाकिस्तान का बॉर्डर है। अब पाकिस्तान के बॉर्डर से लगे होने के कारण राजस्थान को एक मजबूत सेना की जरूरत तो जरूर पड़ेगी, यह बात तो बिल्कुल तय है। राजस्थान के सैनिकों को भी उसी तरह की रक्षा करनी पड़ेगी जिस तरह आज पूरे देश के सैनिक करते हैं। समुद्र की बात करें तो अगर राजस्थान गुजरात के साथ अच्छे संबंध रखेगा तो वहां से होकर वह समुद्री व्यापार आसानी से कर सकेगा।

 

 

 

 

 

अब चलिए बात करते हैं भाषाओं की। राजस्थान के 90.97% लोग हिंदी बोलते हैं। इसके अलावा मारवाड़ी, राजस्थानी, पंजाबी, उर्दू, और वागड़ी भी बोली जाती है। इससे यह बात तो साफ हो जाती है कि पाकिस्तान की राष्ट्रीय भाषा तो हिंदी हीं होती। और यह आज राजस्थान की राजकीय भाषा भी है।

 

 

State bird
राजकीय पक्षी

राजस्थान के राष्ट्रीय चिन्ह की बात करें तो यहां का राष्ट्रीय पशु – चिंकारा और ऊंट है। राष्ट्रीय पक्षी – गोदावन यानी सोन चिड़िया, राष्ट्रीय फूल – रोहिडा, और राष्ट्रीय वृक्ष – खेजड़ी है। आपको बता दें कि यह सब अभी राजस्थान के राजकीय चिन्ह हैं। और राजस्थान अगर कोई देश होता तो यही यहां के राष्ट्रीय चिन्ह यानी कि नेशनल सिंबल्स बन जाते।

 

 

 

 

 

 

राजस्थान में महिलाओं और पुरुषों का लिंग अनुपात 928 महिलाओं पर एक हजार पुरुष हैं। जो भारत के औसतन लिंग अनुपात से काफी कम है। एक अलग देश होने पर यह दुनियां में 193वें नंबर पर होता। मगर भूटान, सऊदी अरब, कतर, कुवै, मालदीव, और संयुक्त अरब अमीरात जैसे देशों से हीं आगे होता। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस मामले में राजस्थान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, अफगानिस्तान, चीन, और अफ्रीका के बेहद गरीब देशों से भी पीछे होता।

 

दोस्तों राजस्थान में पोलो, घुड़सवारी, बास्केटबॉल, तीरंदाजी, निशानेबाजी, क्रिकेट, जैसे खेल बहुत प्रसिद्ध हैं। यहां का राजकीय खेल बास्केटबॉल है। और फिर यहां का राष्ट्रीय खेल यानी कि नेशनल गेम तो बास्केटबॉल हीं होता।

 

आइये दोस्तों, आखिर में बात करते हैं करेंसी की। दोस्तों एक अलग देश होने पर राजस्थान में चलते तो रुपए हीं, लेकिन उस पर फोटो किसकी होती यह सोचने वाली बात है। राजस्थान के कुछ प्रसिद्ध शख्सियतों में से ब्रह्मगुप्त मीराबाई, महाराणा प्रताप, पृथ्वीराज चौहान, राणा सांगा, राजा मानसिंह, सवाई जयसिंह II, रानी पद्मिनी, जमुनालाल बजाज, मोतीलाल ओसवाल, और घनश्याम दास बिरला जैसे जाने माने लोग शामिल हैं। अब आप हीं हमें कमेंट करके बताइए कि इनमें से किस की फोटो राजस्थान के नोटों पर होनी चाहिए।

 

आप हमारे इस पोस्ट को नीचे दिए गए वीडियो में भी देख सकते हैं׀ इस वीडियो के अनुभव भी हमसे साझा करें और अन्य लोगों से यह वीडियो जरूर शेयर करें׀

इस पोस्ट को हमारे वीडियो में भी देखें

धन्यवाद ׀

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top